बाल गोपाल की पूजा मे ध्यान देने योग्य बाते,कृष्ण जन्माष्टमी 2020

हिंदू धर्म में विष्णु अवतार श्रीकृष्ण का बहुत महत्व बताया गया है। उनके इसी महत्व को देखते हुए आज दुनियाभर में करोड़ों लोग भगवान श्रीकृष्ण की पूजा-आराधना करते हैं। श्री कृष्ण की उपासना करने वाले श्रद्धालुओं का मानना है कि उनकी पूजा करने से व्यक्ति को अपने समस्त दुखों से छुटकारा मिलता है और उनके जीवन में सदा खुशहाली रहती है।

कृष्ण जन्माष्टमी पर बाल गोपाल की पूजा मे ध्यान देने योग्य बाते

बाल गोपाल का स्वरूप है बेहद लुभावना
शास्त्रों में श्रीकृष्ण का रंग यूँ तो काला बताया गया हैं लेकिन बावजूद इसके ये भी माना गया है कि वो अपने स्वरूप से अपने भक्तों का मन मोह लेते हैं। उनका हर रुप बेहद लुभावना है। धर्मशास्त्रों में इस बात का भी आपको विशेष तौर पर वर्णनन मिल जाएगा कि बचपन में श्रीकृष्ण माक्खन चोरी करते थे, गोपियों के वस्त्र हरण करते थे, जिसके चलते उन्हें बेहद नटकट माना जाता था। इसके साथ ही बचपन से ही वो एक अच्छे नीतिकार माने जाते थे। जिनका जन्म उत्सव हर वर्ष बड़ी धूमधाम से जन्माष्टमी के रूप में मनाया जाता है।

कब मनाई जाएगी जन्माष्टमी 2020

हिन्दू पंचांग अनुसार इस वर्ष स्मार्त संप्रदाय के लोग श्री कृष्ण जन्माष्टमी 11 अगस्त को मनाएंगे, तो वहीं वैष्णव पंथ के अनुयायी 12 अगस्त को मनाएंगे। ऐसे में इस विशेष दिन भक्त उनके प्रति अपने श्रद्धा भाव को दिखाते हुए अपने घरों में भगवान श्रीकृष्ण की उपासना करते हैं, जिसके लिए वो उनकी मूर्ति घर में स्थापित करते हैं। लेकिन माना गया है कि अक्सर लोग उनकी मूर्ति स्थापित करने वक़्त बाल गोपाल से जुड़ी कुछ खास बातों का ध्यान रखना भूल जाते हैं। ऐसे में आइये जानते हैं कि आखिर वो कौन-सी विशेष बातें हैं जिनका ध्यान हमेशा मूर्ति स्थापना के दौरान हमे रखना चाहिए:-

ध्यान रखें कि हमे अपने घर में किसी भी देवी देवता की मूर्ति स्थापित करते वक़्त उनकी विशेष पूजा-अर्चना ज़रूर करनी चाहिए।

 

कृष्ण जन्माष्टमी पर बाल गोपाल की पूजा मे ध्यान देने योग्य बाते

अगर आप भी अपने घर इस जन्माष्टमी श्री कृष्ण की मूर्ति स्थापित करना चाहते हैं तो, आपको विशेष तौर पर इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि मूर्ति के साथ घर में बाँसुरी अवश्य रखें। मान्यताओं अनुसार, भगवान श्रीकृष्ण अपनी बाँसुरी की मधुर धुन से लोगों को मंत्रमुग्ध करते हैं, यही वजह है कि अगर आप भी उनकी स्थापना करते हुए इस जन्माष्टमी अपने घर में बाँसुरी रखते हैं तो उनका आकर्षण आपके प्रति अधिक बढ़ जाएगा। इसलिए इस जन्माष्टमी भगवान श्रीकृष्ण को खुश करने के लिए आपको कृष्ण जी की मूर्ति के अलावा घर में लकड़ी की एक सुंदर बाँसुरी भी ज़रुर रखनी चाहिए।
शास्त्रों अनुसार ये माना गया है कि भगवान श्रीकृष्ण चरवाहा थे जो गाय और उनके बछड़ों से बेहद प्यार करते थे। उन्हें गाय का दूध, माखन और दूध से बने पदार्थ भी पसंद थे। इसी कारण से घर में उनकी स्थापना के वक़्त गाय और बछड़े की एक जोड़ी भी अवश्य ही रखनी चाहिए।

कृष्ण जन्माष्टमी कब है

ये देखा गया है कि भगवान कृष्ण अपने सिर पर सैदव एक मोरपंख धारण करके रखते थे, इसलिए ही इस जन्माष्टमी उनकी स्थापना करते वक़्त आपको भी अपने घर में मोरपंख ज़रूर रखना चाहिए। माना जाता है कि मोरपंख रखने से आपके परिवार पर भगवान कृष्ण की सदा कृपा रहती है और ख़ुशियों की बारिश भी होती है।
मोरपंख के अलावा मान्यता ये भी है कि उनकी मूर्ति स्थापना के साथ ही घर में कमल का फूल रखना भी बेहद शुभ होता है। माना जाता है कि जिस प्रकार कमल का फूल कीचड़ में उगता है उसी प्रकार यदि उसे घर में रखा जाए तो भगवान कृष्ण खुश होते हैं और उस कमल की तरह ही आपके जीवन में तमाम संघर्षों के बावजूद आपको विजयी बनने में मदद करते हैं।

कृष्ण जन्माष्टमी कब है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *